भारतीय सामान्य ज्ञान एवं सामान्य विज्ञान/GENERAL KNOWLEDGE AND GENERAL SCIENCE

INDIAN G.K PART 5
1- पख्तूनिस्तान का क्षैत्र किस देश मे है। उत्तर :- अफगानिस्तान में
2- वारसा किस देश की राजधानी है। उत्तर :- पोलैण्ड की
3- नैन्सी किस देश का प्रमुख उद्यौगिक नगर है। उत्तर :- फ्रांस का
4- सरदार सरोवर परियोजना किस राज्य में है। उत्तर :- गुजरात में
5- दो स्थानों के देशान्तरों में 1′ का अन्तर होने पर उनके समयों में कितना अन्तर रहता है। उत्तर :- 4 मिनट को
6- भूमध्यरेखा के सहारे 1′ देशान्तर की दूरी लगभग कितनी होती है। उत्तर :- 111 किमी
7- स्वेज नहर किन दो सागरों को जोड़ती हैं। उत्तर :- लाल सागर और भूमध्य सागर
8- बाल्टिक सागर और उत्तारी सागर का जोड़ती है। उत्तर :- कील नहर
9- भारत की कौनसी नदी विन्धया एवं सतपुड़ा पर्वत श्रृखलाओं के बीच से होकर बहती है। उत्तर :-नर्मदा
10- हिमाचल की कुल्लू घाटी को अन्य किस नाम से जाना जाता है। उत्तर :- देव घाटी
11- उत्तारांचल का प्रसिध्द हिन्दू तीर्थ मन्दिर बद्रीनाथ किस नदी के किनारे स्थित है। उत्तर :- अलकनन्दा
12- दसवीं योजना में औद्योगिक विकास की वार्षिक दर का लक्ष्य रखा गया है। उत्तर :- 10 प्रतिशत
13- सर्वाधिक दालों का उत्पादन किस राज्य में होता है। उत्तर :- मध्य प्रदेश में
14- संयुक्त राष्ट्रसंघ के महासचिव का पद कितने समय के लिए होता है। उत्तर :- 6 वर्ष
15- सेल्यूलर फोन के पिता कौन हैं। उत्तर :- फ्रेड मोरीसन
16- कृषि लागत एवं कीमत आयोग की स्थापना कब की गई थी। उत्तर :- 1965 में
17- भारत में पहला डाक टिकट कब जारी किया गया था। उत्तर :- 1857 में
18- राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक की स्थापना किस समिति की सिफारिश के आधार पर की गई है। उत्तर :- शिवरामन समिति
19- र्स्वण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने शुरू की थी। उत्तर :-1 अप्रैल, 1999 को
20- यदि नीचे उतरते समय लिफ्ट का त्वरण गुरूत्वीय त्वरण से अधिक हो जाने पर सवार व्यक्ति पर क्या क्रिया होगी। उत्तर :- व्यक्ति लिफ्ट की सतह से उठकर उसकी छत पर जा लगेगा
21- अधिक घनत्व वाले माध्यम में ध्वनि की चाल क्या होगी। उत्तर :- ध्वनि की चाल कम होगी
22- अग्निशामक के रूप में उपयोग किए जाने वाला कार्बन टेट्राक्लोराइड का सूत्र है। उत्तर :- ब्ब्प्4
23- प्रयोगशाला के उपकरण आदि में प्रयोग किए जाने वाले पइरेक्स कांच में संघटक है। उत्तर :- सोडियम सिलिकेट बेरियम सिलिकेट
24- विषाणु की खोज करने वाला वैज्ञानिक था। उत्तर :-इवानोवस्की
25- रुधिर वर्ग ओ धारण करने वाले व्यक्तियों में कौनसा प्रोटीन पदार्थ नहीं पाया जाता है। उत्तर :- एन्टीजन
26- पीलिया रोग के लिए उत्तरदायी जीवाणु कौनसा है। उत्तर :- लेप्टोस्पाइरा इक्टेरोहमरेजी
27- सोने की बीमारी नामक रोग के लिए उत्तरदायी सूक्ष्मजीव है। उत्तर :-ट्रिपेनोसोमा नामक प्रोटोजोआ
28- डॉ. होमी जहांगीर भाभा :- भारत के परमाणु ऊर्जा के जनक माने जाते है। आप परमाणु ऊर्जा आयोग के प्रथम चेयरमैन थे। कॉस्मिक किरणों तथा क्वान्टम थ्योरी पर आपने महत्तवपूर्ण शोध कार्य किया है। भारत का प्रथम परमाणु रिएक्टर ट्राम्बे में आप ही की देखरेख में स्थापित हुआ था। आपकी मृत्यु वायुयान दुर्घटना में हो गई।
29- डॉ. शान्तिस्वरूप भटनागर :- आप विज्ञान के क्षैत्र में भारत के जानेमाने व्यक्ति रहे है। आप वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के अध्यक्ष रहे है।
30- जगदीश चन्द्र बोस :- आप वनस्पति विज्ञान के ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक हुए है। पौधो में चेतना शक्ति की खोज आपकी ही देन है। तथा आपने क्रेस्कोग्राफ का आविष्कार किया था।
31- एस.एस. बोस :- आपने आइन्स्टाइन के साथ मिलकर एक नई संख्यिकी का प्रतिपादन किया है तथा बोसोन नामक कण का अविष्कार किया है।
32- डॉ. ए.बी. जोशी :- कृषि विज्ञान के क्षेत्र में आपने महत्तवपूर्ण योगदान किया है। आप इण्डियन एग्रीकल्चरल रिसर्च इंस्टीटयूट के निदेशक रहे है। कृषि के क्षेत्र में विशिष्ट सेवाओं के लिए आपको बोरलॉग पुरस्कार से 1975 में सम्मानित किया गया है।
33- डॉ. हरगोविन्द खुरान :- भारत के मूल निवासी परन्तु बाद में अमरीकी नागरिकता प्राप्त करने वाले वैज्ञानिक हैं जिन्हें जेनेटिक कोड पर किए गए शोध कार्य पर नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। आपने कृत्रिम जीन का निर्माण भी किया था।
34- डॉ. एच.एन. मेहता :- भारत में न्यूक्लियर टेक्नोलॉजी के विकास में आपका महत्तवपूर्ण योगदान रहा है। भारत का प्रथम परमाणु परीक्षण आपकी ही देखरेख में सम्पन्न हुआ था। आप भारत के परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष रह चुके है। आपको 1959 में शांतिस्वरूप भटनागर पुरस्कार तथा पह्वाश्री पुरस्कार से अंलकरण किया गया है।
35- जे.वी. नार्लीकर :- भारत के युवा वैज्ञानिक है जिन्होने ब्रिटिश वैज्ञानिक होयल के साथ मिलकर ब्रह्वाण्ड की उत्पत्तिा के नवीन सिध्दन्तों का प्रतिपादन किया है। आपके विशिष्ट शोध क्षेत्र सैध्दांतिक खगोलिकी हैं।
36- डॉ. राज रमन :- प्रमुख भारतीय वैज्ञानिक है। आप परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष रहे है। आपका भारत के प्रथम परमाणु परीक्षण में विशेष योगदान रहा है।
37- डॉ. सी.वी. रमन :- भारत के सुविख्यात भौतिकी वैज्ञानिक जिन्हें 1930 में रमन इफेक्ट की खोज पर नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। आपको लेनिन पुरस्कार व भारत रत्न से सम्मानित किया था। भौतिकी विज्ञान के आप राष्ट्रीय प्रोफेसर थे तथा क्रिस्टल की संरचना पर आपका अध्ययन एवं खोज बड़े ही महत्तवपूर्ण सिध्द हुए है।
38- डॉ. मेंघनाथ साहा :- भारत के विख्यात वैज्ञानिक डॉ. साहा का भौतिक तथा गणित के क्षेत्र में महत्तवपूर्ण योगदान है। अप विशेषे रूप से परमाणु कॉस्मिक किरणों तथा स्पेक्ट्रम एनालिसिसस सम्बन्धी अनुसंधान के लिए विख्यात हुए। आपके ही प्रयत्नों के फलस्वरूप इंस्टीटयूट ऑफ न्यूक्लियर फिजिक्स की स्थापना हुई। आप लोकसभा के सदस्य भी रहे।
39- डॉ. सुबह्वाण्यम चन्द्रशेखर :- अमरीकी नागरिकता प्राप्त भारतीय मूल के वैज्ञानिक है, जिन्हें 1983 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। आपका अध्ययन तथा खोज क्षेत्र खगोल विज्ञान, प्लाविक भौतिकी एवं सामान्य सापेक्षता है। अमेरीका का सर्वोच्च सम्मान वैज्ञानिक पुरस्कार नेशनल मेडल ऑफ साइन्स भी इन्हें मिल चुका है।
40- नागर्जुन :- सुविख्यात रसायनवेत्ताा थे। बौध्द काल में आपने रसायन विज्ञान के क्षेत्र में कार्य किया था।
41- भास्कर प्रथम :- सातवीं शताब्दी के सुविख्यात खगोलशस्त्री भारत के दूसरा उपग्रह इन्हीं के नाम उनका यशगान करता हुआ अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया है।
42- भाष्कराचार्य द्वितीय :- 12 वीं शताब्दी के सुविख्यात गणिरज्ञ एवं खगोलशास्त्री थे। इनकी रचना सिध्दांत शिरोमणी आज भी प्रसिध्द है।
43- आर्यभट्ट :-5वीं शताब्दी के सुविख्यात गणितज्ञ एवं खगोलशास्त्री चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य के समय में आपने गणित सम्बधी महत्तवपूर्ण खोज करके भारत का सम्मान बढ़ाया। आप ही की कीर्ति का येशोगान करता हुआ प्रक्षेपित हुआ भारत का प्रथम उपग्रह अंतरिक्ष में भेजा गया।
44- धनवन्तरि :- विक्रमादित्य के काल में ये प्रसिध्द वैद्य थे।
45- चरक :- ये कनिष्क के दरबारी वैद्य थे। आपकी पुस्तकों में आयुर्वेद की विवेचना की है।
46- ऑल्टीमीटन :- ससे विमानों की ऊँचाई नापी जाती है।
47- एमीटर :- ससे एम्पीयर्स में विद्युत धारा को नापा जाता है।
48- एनिमोमीटर :- इससे वायु की शाक्ति तथा गति को नापा जाता है।
49- ओडियोफोन :- इसे लोग सुनने में सहायता के लिये कान में लगाते है।
50- बेरोग्राफ :-यह वायुमण्डल के दाब में होने वाले परिवर्तन को नापता है, और स्वत: ही इसका ग्राफ बना देता है।
51- कैलीपर्स :- इसे गोल वस्तुओ का भीतरी तथा बाहरी व्यास नापा जाता है, इससे मोटाई भी नापी जा सकती है।
52- कारडियोग्राम :- इससे हृदय रोग से ग्रसित व्यक्ति की हृदय गति की जांच की जाती है।
53- सिनेमोटोग्राफ :- इस यंत्र के द्वारा छोटी छोटी फिल्म के चित्रों को बड़ा करके दिखाया जाता है। इसमें अनेक लैंसो को इस प्रकर लगाया जाता है कि चित्र गतिमय दिखाई देते है।
54- कम्पास नीडिल :- इसके द्वारा किसी स्थान की दिशा ज्ञात की जाती है।
55- यूडिओमीटर :- इसके द्वारा गैसों में रासायनिक क्रिया के कारण होने वाले आयतन के परिवर्तनों को नापा जाता है।
56- फेदोमीटर :- इससे समुद्र की गहराई नापी जाती है।
57- ग्रामोफोन :- इस उपकरण के द्वारा रिकार्ड पर अंकित ध्वनि तरंगों को पुन: उत्पादित किया जा सकता है। और सुना जा सकता है।
58- ग्रेवोमीटर :- इससे पानी की सतह पर तेल की उपस्थिति ज्ञात की जा सकती है।
59- हाइग्रोमीटर :- इससे वायुमण्डल में व्याप्त आद्रता नापी जाती है।
60- हाइड्रोफोन :- इससे पानी में ध्वनि को अंकित किया जाता है।
61- लैक्टोमीटर :- इससे दूध की शुध्दता ज्ञात की जाती है।
62- माइक्रोस्कोप :- बुहत की सूक्ष्म वस्तुओं को इस उपकरण द्वारा आवर्धन करके देखा जाता है।
63- माइक्रोटोम :- इसे किसी वस्तु को बहुत पतले-पतले भागों में काटने के काम में लाया जाता है।
64- ओडोमीटर :- इससे मोटर गाड़ी की गति को ज्ञात किया जाता है।
65- पैराशूट :-यह छाते के समान उकरण है जिससे युध्द या आपात स्थिति के समय वायुयान से नीचे कूदा जा सकता है।
66- पेरिस्कोप :- इसके द्वारा जब पनडुब्बी पानी के अंदर होती है तो पानी की सतह पर अवलोकन कर सकती है और इसमें बैठे लोग बिना किसी के जाने हुए बिना किसी बाधा के बाहरी हलचले ज्ञात कर सकते है।
67- फोनोग्राफ :- इससे ध्वनि की तंरगो को पुन: ध्वनि में परिवर्तित किया जाता है।
68- फोटोकैमरा :- इससे फोटोग्राफ लेकर कैमीकल्स की सहायता से इसे डेवलप किया जाता है ताकि सही चित्र बनकर निकले।
69- पोटेन्शियोमीटर :- इससे किसी सेल के विद्युत वाहक बल तथा तार के दो सिरों के विभवान्तर की नाप होती है।
70- रेडियेटर :- यह कारों तथा गाड़ियों के इंजिनों को ठण्डा करने वाला उपकरण है।
71- रेन गेज :- इससे किसी विशेष स्थान पर हुई वर्षा की मात्रा नापी जाती है।
72- सिस्मोग्राफ :- इस यंत्र से पृथ्वी सतह पर आने वाले भूकम्प के झटकों का स्वत: ही ग्राफ चित्रित होता है।
73- स्पेक्ट्रोमीटर :- इस यंत्र के माध्यम से स्पेक्ट्रम की उत्पति की जाती है जिससे कि विभिन्न किरणों के तरंग दर्ैध्य को नापा जा सके।
74- स्फिग्मोमेनोमीटर :- इससे धमनियों में बहने वाले सक्त का दाब नापा जाता है।
75- स्पीडोमीटर :- इससे किसी मोटर गाड़ी की चालन गति ज्ञात की जाती है।
76- स्फिग्मोफोन :- इससे नाड़ी धड़कन को तेज ध्वनि में सुना जा सकता है।
77- स्टेथिस्कोप :- इससे हृदय तथा फेफड़ो की आवाज को सुना जा सकता है। और रोग के लक्षण ज्ञात किये जाते है।
78- स्टोप वाच :- इससे किसी कार्य या क्रिया की समय अवधि सही रूप से नापी जाती है।
79- टैकोमीटर :- इससे वायुयानों मथा मोटर बोटों की गति नापी जाती है।
80- टेलीफोन :- इसके द्वारा दो व्यक्ति जो एक दूसरे से दूर होते है, बातचीत कर सकते है।
81- टेलिस्कोप :- इसकी सहायता से दूर स्थित वस्तुये स्पष्ट देखी जा सकती है।
82- टेलस्टार :- 10 जुलाई 1962 को कैप कैनेड़ी से छौड़ा गया यह अंतरिक्ष का संचार उपग्रह है। इसके द्वारा एक देश के निवासी दूसरे देश के निवासियों से टेलीफोन द्वारा बातचीत कर सकते है। इसके अतिरिक्त टेलिविजन संचार भी विभिन्न देशों में इसके द्वारा संभव हो सहा है।
83- थर्मोस्टेट :- इस यंत्र के द्वारा उष्मा आपूर्ति पर नियंन्त्रण करके किसी वस्तु या पदार्थ का तापमान किसी बिन्दु पर नियत कर दिया जाता है।
84- लाइफ बोट तथा लाइफ वेस्ट :- जब कोई जहाज डूबता है तो इनको उपयोग में लाकर यात्रियों को बचाया जाता है।
85- ट्रान्सफॉमर्र :- इसके द्वारा ए.सी. विद्युत की वोल्टेज को कम-अधिक किया जा सकता है।
86- संचार उपग्रह :- यह विभिन्न क्षेत्रों और देशों के बीच टेलीफोन तथा टेलिविजन कार्यक्रमों को प्रसारित करने वाले उपग्रह है, जो रिले स्टेशन के समान है।
87- एस.एल.वी. :- इसका पूर्णरूप है, सैटेलाइट लॉचिगं व्हीकल। इसके द्वारा अंतरिक्ष में उपग्रह प्रक्षेपित किये जाते है।
88- एक्टिओमीटर :- सूर्य किरणों की तीव्रता नापने का यंत्र।
89- एकूमुलेटर :- विद्युत ऊर्जा एकत्र करने का यंत्र।
90- एक्सिलरोमीटर :- हवाई जहाज के चाल की वृध्दि नापने का यंत्र।
91- एण्टी एअरक्राफ्ट :- गोला मारकर हवाई जहाजों को गिराने वाला यंत्र।
92- कलरीमीटर :- दो रंगो की गहनता की तुलना करने वाला यंत्र।
93- कम्यूटेटर :- इससे किसी परिपथ में विद्युत धारा बदलती है।
94- काइनेस्कोप :- इस पर टेलीविजन से प्राप्त चित्र प्रकट होते है।
95- कायमोग्राफ :- रूधिर के दाब का ग्राफ चित्रण करने वाला यंत्र।
96- इलेक्ट्रोस्कोप :- विद्युत आवेश की उपस्थिति जानने वाला यंत्र।
97- फोनोमीटर :- प्रकाश की चमक शक्ति ज्ञान करने का यंत्र।
98- गाइरोस्कोप :- घूमती हुई वस्तुओं की गति नापने का यंत्र।
99- हाइग्रोस्कोप :- वायुमण्डल की आर्द्रता के परिर्वतन को नापने वाला उपकरण।
100- हाइप्सोमीटर :- पर्वतारोहियों द्वारा समुद्र तल से ऊँचाई नापने में प्रयुक्त उपकरण।

About trn

arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab arab v

Posted on April 12, 2011, in Current Affair. Bookmark the permalink. Leave a comment.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: